बेरहमी से डॉक्टरों की हुई पिटाई, क्या है ढाबे पर झगङे का सच

नई दिल्ली देर रात एम्स और सफदरजंग अस्पताल के जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स के साथ मारपीट हुई है। इसमें कई डॉक्टर्स को गंभीर चोटें आई हैं। एम्स की रेजिडेंट डॉक्टर्स असोसिएशन (आरडीए) का कहना है कि उन्होंने स्थानीय पुलिस स्टेशन में शिकायत दी है। हालांकि इस मामले में कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। डीसीपी साउथ अतुल ठाकुर ने कहा कि दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर पिटाई का आरोप लगाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। नई दिल्ली देर रात एम्स और सफदरजंग अस्पताल के जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स के साथ मारपीट हुई है। इसमें कई डॉक्टर्स को गंभीर चोटें आई हैं। एम्स की रेजिडेंट डॉक्टर्स असोसिएशन (आरडीए) का कहना है कि उन्होंने स्थानीय पुलिस स्टेशन में शिकायत दी है। हालांकि इस मामले में कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। डीसीपी साउथ अतुल ठाकुर ने कहा कि दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर पिटाई का आरोप लगाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। एम्स आरडीए का दावा एम्स आरडीए के प्रेजिडेंट डॉ. अमनदीप सिंह का कहना है कि जिन जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स के साथ मारपीट हुई है, उनकी इमरजेंसी ड्यूटी लगी थी। ड्यूटी खत्म करने के बाद रात को सभी एम्स के पास गौतम नगर में ढाबे पर परांठे खाने गए थे। इनके साथ सफदरजंग अस्पताल के जूनियर डॉक्टर्स भी आ गए। जब ये वहां पहुंचे तो ढाबे का मालिक कहने लगा कि डॉक्टर्स की वजह से कोरोना फैल रहा है। जहां डॉक्टर्स रहते हैं, उसके आसपास कोरोना के केस बढ़ गए हैं। इस पर जूनियर डॉक्टर्स और ढाबे के मालिक में बहस हो गई। यूं बेरहमी से डॉक्टरों की पिटाई? आरोप है कि ढाबे के मालिक ने 15 से 20 लड़के बुला लिए, जिनके पास रॉड और डंडे थे। उन्होंने जूनियर डॉक्टर्स को पीटना शुरू कर दिया। कुछ डॉक्टर्स के सिर पर रॉड से हमला किया। उन्हें पांच से छह टांके आए हैं। किसी के पैर पर गंभीर चोट लगी है तो किसी की गर्दन में चोट है। हालांकि सभी जूनियर डॉक्टर्स खतरे से बाहर हैं। डॉक्टर सिंह ने कहा कि डॉक्टर्स के साथ इस तरह का व्यवहार बर्दाश्त करने लायक नहीं, वे ड्यूटी कर रहे हैं, लोगों की जान बचा रहे हैं, कई-कई दिनों से परिवार से नहीं मिल पाते। वर्कलोड डबल है और रिलेक्स मिल नहीं पा रहा है। इसके बावजूद डॉक्टर्स के साथ ऐसी घटनाएं हो रही हैं। डॉक्टर्स डे पर डॉक्टरों के साथ इस तरह का सलूक किया जा रहा है। पुलिस ने बताई कुछ अलग कहानी उधर, डीसीपी साउथ अतुल ठाकुर ने कहा कि बुधवार को कुछ डॉक्टर ढाबे पर गए थे। दुकान मालिक भगत सिंह के साथ बैठकर उन लोगों ने शराब पी। इसी बीच डॉक्टरों की भगत सिंह के साथ कहासुनी हो गई और दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर हमला बोल दिया। दो डॉक्टरों के अलावा भगत सिंह और उनके बेटे को चोटें आई हैं। फिलहाल, पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

Popular posts from this blog

मुंबई मे भारी बारीश से 15 की मौत, लोकल ट्रेनों का संचालन रोका गया

अयोध्या में बड़ा हादसाः सरयू में स्नान करते समय एक ही परिवार के 12 लोग डूबे, पुलिस व पीएसी के गोताखोर लगाए गए

एटीएस की छापेमारी: लखनऊ में विस्फोटक के साथ अलकायदा के दो आतंकी गिरफ्तार, कुकर बम मिलने से हड़कंप