उत्तओराखंड की नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश का दिल्लीं में निधन, पूर्व सीएम, मंत्री व नेताओं ने जताया शोक

उत्तंराखंड की नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता इंदिरा हृदयेश का रविवार को निधन हो गया। वह उत्तराखंड सदन नई दिल्ली में ठहरी हुईं थीं। बीते रोज प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव के साथ बैठक में शिरकत की थी जिसके बाद उनकी अचानक तबीयत बिगड़ गई। शासकीय प्रवक्ता एवं काबीना मंत्री सुबोध उनियाल ने नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश के निधन पर जताया दुख। उन्होंने कहा, राज्य में होगा एक दिवसीय होगा राजकीय शोक। उनकी उम्र 80 वर्ष थी। वह कांग्रेस की शनिवार को हुई बैठक में शामिल होने के दिल्ली गई थीं। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने डा इंदिरा हृदयेश के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। हल्द्वानी विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व कर रहीं डा हृदयेश की तबीयत रविवार सुबह नई दिल्ली के उत्तराखंड सदन में अचानक खराब हो गई और कुछ देर बाद ही उनका निधन हो गया। बताया गया कि उन्हें दिल का दौरा पड़ा था। इंदिरा हृदयेश कुछ महीने पहले कोरोना संक्रमित हुई थीं, लेकिन इससे उबर कर वह जल्द ही राजनीतिक गतिविधियों में सक्रिय हो गई थीं। इन दिनों वह आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों के क्रम में पार्टी को मजबूत करने में जुटी हुई थीं। इसी कड़ी में प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव द्वारा शनिवार को बुलाई गई बैठक में शामिल होने के लिए वह दिल्ली गई थीं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह भी रविवार को उत्तराखंड सदन में ही मौजूद थे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह भी उत्तराखंड सदन में मौजूद थे, उन्होंबने कहा कि उत्तराखंड ऒर कांग्रेस को गहरा आघात पहुंचा है। वहीं, पूर्व मुख्यरमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्वीट किया कि कांग्रेस की वरिष्ठह नेत्री इंदिरा हृदयेश के निधन का दुखद समाचार मिलकर अंत्यंकत दुखी है। उन्होंीने अपने राजनीतिक जीवन में कई पदों को सुशोभित किया। पूर्व मुख्यदमंत्री विजय बहुगुणा, वन मंत्री हरक सिंह रावत समेत कई मंत्री व नेताओं ने उनके निधन पर शोक जताया है।
डॉ. इंदिरा हृदयेश के आकस्मिक निधन से प्रदेश में शोक कांग्रेस पार्टी की वरिष्ठ नेता डॉ. इंदिरा हृदयेश के आकस्मिक निधन से पूरे प्रदेश में शोक व दुख की लहर दौड़ गई है। पार्टी पदाधिकारियों ने कहा कि उनके निधन से हम सब स्तब्ध हैं वो दिल्ली में पार्टी मीटिंग में गई थी दिल्ली में ही अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई और आज सुबह ही उत्तराखंड सदन में उनका निधन हो गया। वहीं, कांग्रेस पार्टी के ही पूर्व जिला अध्यक्ष व दुगड्डा नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष दीपक बडोला के आकस्मिक निधन पर भी कांग्रेस पार्टी ने दुख व शोक प्रकट किया है। कांग्रेस प्रवक्ता गरिमा दसौनी ने कहा कि बहुत ही कम उम्र में वह नगर पालिका दुगड्डा के चेयरमैन बने थे और अपने मृदुभाषी व्यवहार, कर्मठता, जुझारू पन से पूरे क्षेत्र में लोकप्रिय थे उन्होंने अपना जीवन दीन दुखियों गरीब, मजदूरों की सेवा में समर्पित किया और पार्टी के विभिन्न पदों पर रहते हुए उत्कृष्ट कार्य किए। उनका जाना भी पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति है व उनके द्वारा रिक्त किए गए स्थान को भरा नहीं जा सकता है।

Popular posts from this blog

मुंबई मे भारी बारीश से 15 की मौत, लोकल ट्रेनों का संचालन रोका गया

अयोध्या में बड़ा हादसाः सरयू में स्नान करते समय एक ही परिवार के 12 लोग डूबे, पुलिस व पीएसी के गोताखोर लगाए गए

एटीएस की छापेमारी: लखनऊ में विस्फोटक के साथ अलकायदा के दो आतंकी गिरफ्तार, कुकर बम मिलने से हड़कंप