11 साल की बच्ची बनी सबसे कम उम्र की मां, परिवार के लोग थे अंजान

एक वक्त था जब नारी को हम देवी के रूप में पूजते थे लेकिन आज आलम कुछ ऐसा है कि महिलाओं की इज्जत को सरे आम नीलाम किया जाता, उनकी आबरू तार-तार की जाती है। पूरे विश्व में महिलाओं पर यौन हिंसा सहित विभिन्न तरह के अत्याचार के मामले काफी हद तक बढ़ गए हैं। महिलाओं, नाबालिग लड़कियों तथा छोटी-छोटी बच्चियों के साथ रेप की घटनाओं में तेजी से इजाफा हो रहा है। इस तरह की घटनाएं किसी एक राज्य या शहर की नहीं है बल्कि पूरे देश को निगल रही हैं बलात्कार सिर्फ शारीरिक तौर पर नहीं बल्कि शब्दों से भी महिलाओं का शोषण किया जा रहा है। घर हो या बाहर कहीं भी वह सुरक्षित नहीं है। ब्रिटेन में महज 11 साल की बच्ची एक बच्चे की मां बन गई है। यह सुनने में आपको अजीब जरूर लग रहा होगा लेकिन ये पूरी तरह सच है। अब माना जा रहा है कि वो बच्ची ब्रिटेन की सबसे कम उम्र की मां है। 'द सन' की रिपोर्ट में कहा गया है कि बच्चे की मां सिर्फ 10 साल की थी जब वह गर्भवती (Pregnant) हुई, जिसके बारे में उसके परिवार को शुरुआत के कुछ महीनों तक कोई जानकारी नहीं थी। एक सूत्र ने द सन को बताया, ‘इस खबर के बाद सभी को बड़ा झटका लगा है। बच्ची अब विशेषज्ञों की मदद से घिरी हुई है। सबसे अहम बात यह है कि मां और बच्चा दोनों ‘ठीक’ हैं।’ डेलीस्टार की खबर के मुताबिक, इससे पहले ब्रिटेन की सबसे कम उम्र की मां टेरेसा मिडलटन को कहा जाता था। उन्होंने 2006 में 12 साल की आयु में बच्चे को जन्म दिया था। उन्होंने यह स्वीकार किया था कि बच्चे का पिता उसका भाई था, जिसने उसका रेप किया था।
ब्रिटेन के दो मुख्य प्रांतों इंग्लैंड और वेल्स में तीन साल के अपराधों का औसत निकाला गया. रिपोर्ट बताती है कि इंग्लैंड और वेल्स में हर साल औसतन चार लाख 73 हज़ार सेक्स अपराध होते हैं. इनमें पुरूषों के साथ होनेवाले अपराध भी शामिल हैं मगर बहुतायत महिलाओं के साथ हुए अपराध की है. इनमें हर साल बलात्कार की संख्या 60 हज़ार से 95 हज़ार तक होती है. मगर जहाँ तक सेक्स अपराधों को दर्ज करने की बात है – तो मात्र 54 हज़ार मामले दर्ज हो पाते हैं. जो मामले दर्ज नहीं हुए उनका अनुमान सर्वेक्षण और सांख्यिकीय गणना के आधार पर निकाला गया है. वहीं इसकी तुलना भारत से की जाए तो नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की 2011 की रिपोर्ट के अनुसार भारत में एक साल में 24,206 बलात्कार के मामले दर्ज़ हुए. यानी आँकड़ों को मानें, तो इंग्लैंड-वेल्स में भारत से दोगुना से भी ज़्यादा बलात्कार होते हैं, मगर तब है कि भारत में व्यवस्था को लेकर अनेक सवाल उठाए जाते हैं. द मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक, सबसे कम उम्र के माता-पिता का रिकॉर्ड 13 साल के पिता और 12 साल की मां के नाम था, जब 2014 में उनका एक बच्चा हुआ। छोटे बच्चों के गर्भवती होने पर संक्रमण और प्री-एक्लेमप्सिया सहित कई गंभीर समस्याओं के विकसित होने का खतरा पैदा हो सकता है। दुनिया में सबसे छोटी मां लीना मीडिया नाम की एक पेरू की लड़की थी, जो मई 1939 में जेरार्डो नाम के एक लड़के को जन्म देने के समय केवल पांच साल और सात महीने की थी। उसके माता-पिता को लगा कि उसे ट्यूमर है लेकिन जब उसे अस्पताल ले जाया गया, तो वह सात महीने की गर्भवती पाई गई।

Popular posts from this blog

मुंबई मे भारी बारीश से 15 की मौत, लोकल ट्रेनों का संचालन रोका गया

अयोध्या में बड़ा हादसाः सरयू में स्नान करते समय एक ही परिवार के 12 लोग डूबे, पुलिस व पीएसी के गोताखोर लगाए गए

एटीएस की छापेमारी: लखनऊ में विस्फोटक के साथ अलकायदा के दो आतंकी गिरफ्तार, कुकर बम मिलने से हड़कंप