भजनपुरा गांमडी की बेटी ने 9वीं रैक से पास की पीसीएस परीक्षा, यूपी में बनेगी डिस्ट्रिक ऑडिट ऑफिर

  उत्तर-पूर्वी दिल्ली। उत्तर पूर्वी जिला के भजनपुरा गांमडी विस्तार में रहने वाली सीमा चंद्रवंशी ने पीसीएस की परीक्षा में 9 वीं रैंक प्राप्त कर अपने परिवार का ही नहीं बल्कि अपने जिले और देश का नाम रोशन किया है। सीमा चंद्रवंशी के पिता दिनेश चंद्रवंशी कबाडी का काम करते है। मां किरन देवी गृहणी के रुप में परिवार चलाती है। परिवार में दो भाई व तीन बहनों है। सीमा चंद्रवंशी ने बताया कि माता पिता को इतना ज्ञान नही था कि वह पढाई करके क्या बनना चाहती है। इस लिए उसने अपनी बात अपने बड़े भाई राहुल चंद्रवंशी के साथ साझा की। भाई ने बहन का हौसला बढ़ाते हुए उसकी हर ख्वाहिश को पूरा किया। इस प्रतियोगिता के लिए जहां भी उसे जाना हुआ वहां उसकी मां उसके साथ गई और जहां पैसों की जरुरत पडी वहां भाई राहुल ने उसकी हर जरूरत को पूरा किया।



    सीमा चंद्रवंशी के पीसीएस की परीक्षा में 9 वीं रैंक आने के बाद डिस्टिक ऑडिट ऑफिसर के रूप में उसका चयन होगा। इस बात को सुनकर उसके माता पिता और परिवार फूला नहीं समाया और उनकी इसी खुशी में शामिल होने के लिए और सीमा चंद्रवंशी के साहस को दात देने के लिए पूर्व विधायक श्रीदत्त शर्मा, पूर्व निगम पार्षद रेखा रानी, प्रधान चौधरी बिजेन्द्र सिंह और मंडल अध्यक्ष ठाकुर प्रेमपाल सिंह सीमा चंद्रवंशी के निवास पर पहुंचे। विधायक श्रीदत्त शर्मा और पूर्व पार्षद रेखा रानी ने सीमा चंद्रवंशी को माला पहनाकर उसको मिठाई खिलाई और उसकी इस कामयाबी के लिए उसे बधाई दी। सीमा चंद्रवंशी के नौवीं रैंक के साथ पीसीएस की परीक्षा पास करने की खबर पूरे इलाके में आग की तरह फैल गई। खबर सुनते ही सीमा के आसपास के लोग ही नही बल्कि दूर दराज से भी लोग उसके परिवार को बधाई देने पहुंच रहे हैं। पूर्व विधायक श्रीदत्त शर्मा ने कहा कि यह सीमा चंद्रवंशी की ही कामयाबी नही बल्कि पूरे घोंडा विधान सभा के साथ देश की कामयाबी है।



      निगम पार्षद रेखा रानी ने बताया कि सीमा चंद्रवंशी ने जिन परिस्थितियों में अपनी शिक्षा पूरी की और पीसीएस की परीक्षा के लिए तैयारी की वह अन्य बच्चों के लिए प्रेरणा के स्रोत हैं। उन्होंने कहा कि सीमा  चंद्रवंशी की  कामयाबी से  अन्य बच्चों को भी प्रेरणा लेनी चाहिए। सीमा चंद्रवंशी ने तेज निगाहें न्यूज़ चैनल के माध्यम से सभी बच्चों के लिए एक संदेश दिया कि वे अपनी शिक्षा में कभी हताश ना हो। किसी भी प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए साहस, संयम और धैर्य से काम करेंगे तो सफलता निश्चित होगी। इस मौके पर पूर्व विधायक श्रीदत्त शर्मा, पूर्व पार्षद  रेखा रानी, चौधरी बिजेन्द्र सिंह, ठाकुर प्रेमपाल सिहं, नवीन कुमार के साथ अन्य लोग मौजूद रहे। 


Popular posts from this blog

मुंबई मे भारी बारीश से 15 की मौत, लोकल ट्रेनों का संचालन रोका गया

अयोध्या में बड़ा हादसाः सरयू में स्नान करते समय एक ही परिवार के 12 लोग डूबे, पुलिस व पीएसी के गोताखोर लगाए गए

एटीएस की छापेमारी: लखनऊ में विस्फोटक के साथ अलकायदा के दो आतंकी गिरफ्तार, कुकर बम मिलने से हड़कंप