दिल्ली सरकार भी हांगकांग और दूसरे देशों की तरह साप्ताहिक बाजारों और रेहड़ी-पटरी वालों को प्रोत्साहिक करेगी- अरविंद केजरीवाल

       नई दिल्ली, 25 अगस्त, दिल्ली के सभी साप्ताहिक बाजारों को बेहतर और व्यवस्थित करके उसे दिल्ली के आकर्षण का केंद्र बनाया जाएगा, ताकि जब कोई अमेरिका से पर्यटक आए और साप्ताहिक बाजारों में जाए, तो उसकी तारीफ करे। हम साप्ताहिक बाजारों को दिल्ली की खूबी और खासियत के तौर पर प्रस्तुत करेंगे। हांगकांग और दूसरे देशों की तरह ही दिल्ली सरकार भी साप्ताहिक बाजारों और रेहड़ी-पटरी वालों को प्रोत्साहिक करेगी। हमारे देश में ऐसा माहौल बना दिया गया है कि साप्ताहिक बाजार और रेहड़ी-पटरी वाले एक समस्या हैं और उनकी वजह से सड़कें खराब होती हैं और गंदगी फैलती है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह बातें आज साप्ताहिक बाजार के प्रतिनिधियों के साथ अपने निवास पर बैठक करने के दौरान कही। इस दौरान मुख्यमंत्री ने साप्ताहिक बाजार लगाने वालों के साथ हमेशा खड़े रहने और भविष्य में आने वाली उ नकी समस्याओं का समाधान करने का आश्वासन दिया। वहीं, प्रतिनिधियों ने साप्ताहिक बाजार खोलने की अनुमति देने पर मुख्यमंत्री का आभार जताते हुए कहा कि उनके सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया था, लेकिन मार्केट खुलने से उन्हें राहत मिल गई है।  



               सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने जो भी चीजें खोलती जा रही थी, हम तुरंत दिल्ली के अंदर भी उसकी अनुमति दे देते थे। पूरे देश के अंदर एक जून से लाॅकडाउन खुला और हमने भी खोल दिया। लाॅकडाउन खुलने के बाद दिल्ली में स्थिति थोड़ी खराब हुई। दिल्ली में केस थोड़े बढ़ गए लेकिन हमने लाॅकडाउन दोबारा नहीं लगाया। हमने उनको कम करने की कोशिश की। अभी आपने देखा होगा पूरे देश के अंदर हर राज्य में कहीं 2 दिन का लाॅकडाउन लग रहा है, कहीं चार दिन का लग रहा है, कहीं 10 का लाॅकडाउन लग रहा है, कहीं रात को लग रहा है और कहीं दिन में लग रहा है। हमने दिल्ली में एक बार लाॅकडाउन खोला और उसके बाद दोबारा लाॅकडाउन नहीं लगने दिया। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार जिसकी भी अनुमति देती थी, हम भी उसे धीरे-धीरे खोलते जा रहे हैं। जब साप्ताहिक बाजार खोलने की बात आई, तो मैंने आपके लिए 20-25 दिन पहले एलजी साहब से बात की। संभवतः केंद्र सरकार ने एक अगस्त से साप्ताहिक बाजार खोलने की अनुमति दे दी थी। एक बार तो मैने एलजी साहब को मना लिया, लेकिन शायद फिर केंद्र सरकार से उन पर दबाव आ गया। मैने उनके पास साप्ताहिक बाजार खोलने के लिए फाइल भेजी, तो उन्होंने 10 दिन रूकने के लिए कहा। इसके बाद भी मैं उन पर दबाव बनाता रहा। किसी तरह उन्हें राजी किया और उन्होंने कहा कि 10 अगस्त के बाद खोल देंगे। हम लोगों ने 15 अगस्त के बाद बैठक करके साप्ताहिक खोलने की अनुमति दे दी।



          मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रतिनिधियों से अनुरोध करते हुए कहा कि आप लोग कोशिश करके सप्ताहिक बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना। दिल्ली सरकार के अधिकारी तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराएंगे, लेकिन आपको स्वयं भी करना जरूरी है। यदि आप लोग इसका पालन नहीं करेंगे तो सरकारी कर्मचारी जोर जबरदस्ती करेंगे और फिर उस जोर जबरदस्ती में आपके ग्राहक टूटते हैं, फिर वे लोग नहीं आएंगे। इसलिए आप अपने हिसाब से जितना हो सके, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराएं। सीएम अरविंद केजरीवाल ने सुझाव देते हुए कहा कि सभी मार्केट के कोई प्रधान भी होते होंगे, उनसे बात करके आप अपने लोग लगा दीजिए, जो कि वहां पर सारी व्यवस्था को व्यवस्थित करके रखें, ताकि आज कुछ अखबारों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होने कोलेकर स्टोरी की है, उस तरह की दोबारा स्टोरी नहीं आए। लोगों की राय भी बहुत जरूरी होती है और अगर जनता का दबाव आने लगा कि साप्ताहिक बाजार के अंदर बड़ी भीड़ होने लगी है, तो फिर माहौल उल्टा बन जाएगा। इसलिए हम सभी को इसे संभालना है। सभी साप्ताहिक बाजार की जो समितियां हैं, वह अपनी -अपनी जिम्मेदारी ले लें कि अपने लोगों को लगाकर व्यवस्था को दुरूस्त करें। यह बहुत जरूरी है। अभी यह ट्रायल के आधार पर   चल रहा है। ताकि मैं हफ्ते भर बाद एलजी साहब के पास जाकर कह सकूं कि इसे पूरा खोल देते हैं। पूरी दिल्ली के अंदर साप्ताहिक बाजारों को हमेशा के लिए खोल देते हैं। 


 


 


 


 


 


Popular posts from this blog

मुंबई मे भारी बारीश से 15 की मौत, लोकल ट्रेनों का संचालन रोका गया

अयोध्या में बड़ा हादसाः सरयू में स्नान करते समय एक ही परिवार के 12 लोग डूबे, पुलिस व पीएसी के गोताखोर लगाए गए

एटीएस की छापेमारी: लखनऊ में विस्फोटक के साथ अलकायदा के दो आतंकी गिरफ्तार, कुकर बम मिलने से हड़कंप