पुराने वादों को क्यों दोहरा रहे हैं केजरीवाल : मनोज तिवारी

नई दिल्ली: भाजपा का कहना है कि आप को 10 कामों की गारंटी देने के पहले वर्ष 2015 में दिल्ली की जनता से किए गए 70 वादों का हिसाब लेना चाहिए| दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि जब वादों का हिसाब देने का समय आता है तो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल नए वादे करके दिल्ली वासियों को गुमराह कर रहे हैं| घोषणा पत्र जारी करने से पहले वह उन कामों की गारंटी दे रहे हैं, जिन्हें 5 साल  के कार्यकाल में पूरा नहीं किया| इससे आप की कथनी और करनी में अंतर को समझा जा सकता है| उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को बताना चाहिए कि उनकी सरकार ने बिजली वितरण कंपनी को मार्च तक की 200 यूनिट मुफ्त बिजली देने का आदेश क्यों दिया है? 5 साल में तारों का जंजाल नहीं हटाए जाने के कारण कई हादसे हुए|



आप सरकार को बताना चाहिए कि दिल्ली मैं कितने लोगों को स्वच्छ पानी मिल रहा है? दिल्ली में नए बने स्कूल कॉलेज का वितरण भी सार्वजनिक करना चाहिए| उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आयुष्मान योजना लागू क्यों नहीं करने दे रहे और अस्पतालों की दशा सुधारने में विफल रहने का कारण भी मुख्यमंत्री को बताना चाहिए| उन्होंने कहा कि मेट्रो विस्तार में बाधा डालने वाले मुख्यमंत्री दिल्ली में अंतरराष्ट्रीय स्तर की यातायात सेवा उपलब्ध कराने का दावा कर रहे हैं लोगों को बस के लिए घंटों बस स्टैंड पर इंतजार करना पड़ता है| तिवारी ने कहा कि आप सरकार की लापरवाही की वजह से दिल्लीवासी जहरीली हवा में सांस लेने को मजबूर है| अब प्रदूषण की समस्या हल करने का वादा कर रहे हैं| इसके विपरीत केंद्र के नरेंद्र मोदी सरकार ने ईस्टर्न और वेस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे सहित कई सड़कों का निर्माण व अन्य कदम उठाकर दिल्ली में प्रदूषण की समस्या कम करने की कोशिश की है| उन्होंने कहा कि सीसीटीवी कैमरे व स्ट्रीट लाइट लगाने का दावा भी वर्ष 2015 का था और इसे इस बार भी दोहराया जा रहा है| “जहां जोगी वही मकान” योजना केंद्र सरकार की है इसे अपने गारंटी कार्ड में शामिल करके मुख्यमंत्री दिल्लीवासियों को गुमराह कर रहे हैं|


Popular posts from this blog

अयोध्या में बड़ा हादसाः सरयू में स्नान करते समय एक ही परिवार के 12 लोग डूबे, पुलिस व पीएसी के गोताखोर लगाए गए

UP: पुल से गिरकर नदी में सीधी खड़ी हो गई बस, लोगों ने इस तरह बचाई जान

मुंबई मे भारी बारीश से 15 की मौत, लोकल ट्रेनों का संचालन रोका गया