परिवहन विभाग के मुख्यालय में अहम दस्तावेज आग में जलकर हुए खाक

सोमवार सुबह सिविल लाइन मेट्रो स्टेशन के पास दिल्ली परिवहन विभाग मुख्यालय की पहली मंजिल पर आग लग गई। आग इतनी भीषण थी कि दूसरी मंजिल पर स्थित सर्वर रूम भी बुरी तरह से जल गया। इस आग में कई अहम फाइलें और दस्तावेज जलकर खाक हो गए। सूचना मिलने पर पहुंची दमकल की गाड़ियों ने आग पर काबू पाया। वहीं इस पर राजनीति भी शुरू हो गई है भाजपा और कांग्रेस समेत कवि कुमार विश्वास ने ट्वीट कर आप सरकार पर आरोप लगाया है कि घोटालों को छुपाने के लिए यह आग लगाई गई है। वही आप ने आरोपों को बेबुनियाद और दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।



दमकल विभाग के निदेशक अतुल गर्ग के मुताबिक, आग सुबह करीब 8:30 बजे लगी थी। घटना के दौरान एक सफाईकर्मी की नजर सबसे पहले पड़ी। उसने आग पर काबू पाने की कोशिश भी की, लेकिन आग और तेज होती चली गई। उसने तुरंत मामले की सूचना दमकल विभाग को दी। सूचना मिलते ही दमकल की 26 गाड़ियां मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाया। शुरुआती जांच के बाद पुलिस का कहना है कि अभी यह पता नहीं चला है कि आग कैसे लगी है। आग लगने के कारणों को पता लगाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि जिस मंजिल पर आग लगी थी, वहां फायर एक्टिंग्युशर लगे थे। सफाई कर्मचारी ने आग लगते देख उसे तुरंत इस्तेमाल कर आग पर काबू पाने की कोशिश की, लेकिन आग पर काबू पाने में उससे कोई मदद नहीं मिल सकी। 


Popular posts from this blog

एटीएस की छापेमारी: लखनऊ में विस्फोटक के साथ अलकायदा के दो आतंकी गिरफ्तार, कुकर बम मिलने से हड़कंप

गोरखपुर में जलभराव: दो घंटे की बारिश से डूब गईं शहर की सड़कें, किसानों के चेहरे पर आई मुस्कान

मिमिक्री आर्टिस्ट माधव मोघे का निधन: दामिनी और घातक जैसी फिल्मों का भी रहे हिस्सा