समाजसेवा मेरा शोक और सम्मान मिलना मेरी किसमत- नीरज गुप्ता

नई दिल्लीः कहते हैं मंजिल उसी को मिलती है जिसके मेहनत में जान होती है पंखों से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती है और इसे साबित कर दिखाया दिल्ली के घौंडा क्षेत्र में जन्मे प्रसिद्ध समाजसेवी व व्यवसायी नीरज गुप्ता ने।  नीरज गुप्ता अपने ईमानदारी और लगन से व्यवसाय के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई। संघर्ष करने के बाद मंजिल प्राप्त होने के बाद समाज सेवा में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेना और लोगों के काम आना। हमेशा मिलनसार स्वभाव से नीरज गुप्ता ने हमेशा समाज में लोगों की बढ़-चढ़कर मदद कर अपनी अलग पहचान बनाए। इनकी इन्हीं जज्बे को देखकर देश व विदेश थाईलैंड एवं सिंगापुर जैसे देशों में सम्मानित भी किए जा चुके हैं।



देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई जी के जन्मदिवस पर हर साल संसद भवन में आयोजित होने वाले नेशनल अवार्ड जो कि देश के चुने गए चुनिंदा लोगों को प्रति वर्ष प्रदान किया जाता है और इस बार संसद भवन में समाज सेवा तथा व्यवसाय में अपनी काबिलियत के बलबूते पहचान बनाने वाले नीरज गुप्ता को पटेल समाज सेवा शिखर सम्मान 2019 से नवाजा गया जिसे केंद्रीय मंत्री पदम श्री सीपी ठाकुर तथा सत्यनारायण जटिया एवं सांसद गायक हंसराज हंस तथा केंद्रीय मंत्री गूगल सिंह कुलस्ते व गणमान्य अतिथियों के साथ-साथ कार्यक्रम के आयोजक राष्ट्रीय कवि भुवनेश सिंघल व नवीन तायल द्वारा प्रदान किया गया।   कार्यक्रम में प्रसिद्ध भजन गायक कुमार विशु तथा चयन समिति में प्रसिद्ध कवि सुरेश नीरव एवं देश के चुने गए तथा विदेशों से 25 अवार्डी को अटल बिहारी वाजपेई जी के जन्मदिन पर अटल अवार्ड से सम्मानित किया गया।


Popular posts from this blog

मुंबई मे भारी बारीश से 15 की मौत, लोकल ट्रेनों का संचालन रोका गया

अयोध्या में बड़ा हादसाः सरयू में स्नान करते समय एक ही परिवार के 12 लोग डूबे, पुलिस व पीएसी के गोताखोर लगाए गए

एटीएस की छापेमारी: लखनऊ में विस्फोटक के साथ अलकायदा के दो आतंकी गिरफ्तार, कुकर बम मिलने से हड़कंप