कड़ाके की ठंड मे सौफिया बेघर बचाव दल बचा रहा है बेघरों की जान

दिल्लीःउत्तर पूर्वी जिले मे सौफिया एजुकेशनल एंड वेलफेयर सोसाइटी व् दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड दिल्ली सरकार मिलकर इस कड़ाके की ठंड मे बेघर बचाव दल बेघरों की जान बचाने के लिए उत्तर पूर्वी जिले मे पूरी मुस्तैदी के साथ लगातार बेघरों को रोड से समझाकर व् दिल्ली सरकार द्वारा आश्रय घरों मे दी जाने वाली सुविधाओं के बारे मे  जानकारी देकर उन्हें इतनी जान लेवा ठण्ड से बचाने के लिए रोजाना करीब 10 से 15 लोगो को स्तान्तरित कर रहे है।जिससे उनकी जान बचना सुनिश्चित हो रहा है।इस साल दिल्ली सरकार ने पूरी दिल्ली मे करीब 245 रैन बसेरों मे 18  हजार बेघरों को आश्रय देने की व्यवस्था की है जिसमे कम्बल, गद्दे, तकिया, बैड शीट, साफ पीने का पानी व् साफ  सुथरे शौचालय के साथ साथ वहाँ पर सोने वाले बेघरों के साथ कर्मचारियों को अपना बर्ताब अच्छा रखने के लिए  समुचित तरीके से ट्रेनिंग दी जाती है।पर्यावरण की शुद्धिकरण हेतु वायु शुद्ध करने वाले व् रैन बसेरों को खूबसूरत बनाने के लिए विभिन्न प्रकार के पौधे लगाकर वातावरण को प्रभावी बनाया गया है।



 मनोरंजन के लिए सभी रैन बसेरों मे टीवी भी लगाए गए है और समय समय पर प्रोजेक्टर के द्वारा नई नई फिल्मे व् क्षेत्रीय फिल्मे दिखाई जाती है व् सभी त्योहारों को भी बेघरों के साथ मनाया जाता है। जिससे उन्हें घर जैसा वातावरण मिल सके और  रैन बसेरों मे सोने वाले लोगो को कोई असुविधा न हो। दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड के करीब 17 बचाव दल पूरी दिल्ली मे बहुत मुस्तैदी से रोजाना सैंकड़ों बेघरों को समझाकर उन्हें ठण्ड से बचाने के लिए रैन बसेरों मे सुरक्षित भेज रहे है जिससे पूरी ठण्ड के इस मौसम मे करीब 4  से 5 हजार लोगो को बचाया जा सके ।दिल्ली सरकार ने एक ऐप बेघरों का सहारा "रैन बसेरा ऐप" बनाया है। जिसे 8826400500 पर मिस्ड कॉल करके या गूगल प्ले स्टोर से  डाउनलोड किया जा सकता है यदि आप बेघर लोगो को खुले मे सोते हुए पाए तो उन्हें "रैन बसेरा ऐप" के माध्यम से फोटो खींचकर भेजे जिससे बचाव दल उन्हें पास के रैन बसेरा मे सुरक्षित भेज देंगे  या आप डूसिब के कण्ट्रोल रूम मे 24x7 कॉल करके निम्न नंबरों पर  सूचित कर सकते है ..  8826393774, 011-23370560


डूसिब के इस अथक प्रयास से हर साल ठण्ड से मरने वालों की तादाद मे भरी कमी आयी है  वर्ना ठण्ड से मरने वालों की तादाद काफी होती  थी लकिन अब जो लोग सिर्फ बचाव दल की नजरों से बच जाते है वही ठण्ड का शिकार होते है। आपका सहयोग डूसिब व सौफिया संस्थाकी मदद कर बेघरों की फोटो हमे भेजकर उनकी जान बचाये आपका ये सहयोग किसी बेघर की जान बचा सकता है।


Popular posts from this blog

मुंबई मे भारी बारीश से 15 की मौत, लोकल ट्रेनों का संचालन रोका गया

अयोध्या में बड़ा हादसाः सरयू में स्नान करते समय एक ही परिवार के 12 लोग डूबे, पुलिस व पीएसी के गोताखोर लगाए गए

एटीएस की छापेमारी: लखनऊ में विस्फोटक के साथ अलकायदा के दो आतंकी गिरफ्तार, कुकर बम मिलने से हड़कंप